क्या ‘हॉन्टेड हाउस’ बनने रुक पाएगा ‘बुराड़ी का मकान नम्बर 137’ ?

‘हॉन्टेड हाउस’ में तब्दील होने लगा बुराड़ी का मकान नम्बर-137 एक बार फिर खुल गया है और इसे उस घर के ही सदस्य दिनेश भाटिया ने लोगों के मन में बैठे डर को खत्म करने के लिए खुलवाया है। देश को हिला देने वाले खौफनाक हादसे के बारे दिल्ली ही नहीं बल्कि देश में जिसने भी ये खबर सुनी या देखी, एक बार को समझ नहीं पाया कि 11 पारिवारिक सदस्य एक साथ प्राणघातक कदम कैसे उठा सकते हैं। हालांकि पुलिस जांच में अब ये स्पष्ट होने लगा है कि पूरे ही परिवार पर ही धार्मिकता का अंधविश्वास फैला हुआ था। जिसकी वजह से एक धार्मिक अनुष्ठान को पूर्ण करने के लिए सबने एक साथ जानलेवा कदम उठाया था। बुराड़ी के ‘संत नगर की गली नम्बर-2’ के ‘मकान नम्बर-137’ को पुलिस ने एक जुलाई को जांच के मद्देनजर पूरी तरह से सील कर दिया था।

इस अनहोनी दास्तां में सबका मुखिया रहे ललित के बड़े भाई दिनेश भाटिया ने बुधवार को उन 11 मनहूस पाइप्स को तुड़वा दिया जिन्हें देखकर आसपास के लोगों में डर फैला हुआ था और ये 11 पाइप्स लटकने के लिए ही बनवाए गए थे। गुरुवार को हॉन्टेड हाउस माने जाने लगे इस घर का जब ताला खुला तो वहां का माहौल बहुत गमगीन हो गया। सुबह नौकर रामविलास ने ललित की प्लाईवुड की दुकान का ताला खोला और काम धंधे में लग गया।

दिनेश भाटिया का कहना है कि यहां लोगों में घर की वजह से इस कदर डर पैदा हो गया था कि कई लोगों ने तो घर ही छोड़ दिए और कई ने रात की शिफ्ट में आना-जाना ही बंद कर दिया था। इस गली में शाम होते ही लोग आने-जाने से भी डरने लगे थे। लेकिन मैंने रात गुजारी और मुझे कोई परेशानी नहीं हुई है।

बुराड़ी में एक जुलाई को लटके मिले भाटिया परिवार के 11 सदस्यों की सामूहिक मौत, आत्महत्या के कारण नहीं बल्कि दुर्घटना से हुई थी। CFSL द्वारा सौंपी गई मनोवैज्ञानिक रिपोर्ट में बताया गया है। धार्मिक अनुष्ठान के दौरान भाटिया परिवार के सभी सदस्य दुर्घटनावश मारे गए थे, धार्मिक अनुष्ठान करने वालों ने आत्महत्या करने के इरादे से फांसी नहीं लगाई थी। उन्हें पूरा भरोसा था कि ‘मरने बाद आत्मा बाहर आ जाएगी और वे पुन: जीवित हो जाएंगे।’

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s