खुद पर से ‘मुस्लिम ठप्पा’ हटाने को ‘बैचेन’ राजनीतिक पार्टियां

BV-Acharya-23नि:संदेह ‘भारत के मुसलमान’ के लिए ये जानना जितना कष्टदायी होगा उतना ही ‘हिन्दू’ के लिए ये मौकापरस्त राजनीतिक पार्टियों का हाल देखना कि अपने स्वार्थ के लिए ये राजनीतिज्ञ किसी भी हद तक जा सकते हैं। कुछ राजनीतिक पार्टियों ने अपने स्वार्थ के लिए ना जाने कैसे-कैसे प्रपंच किए। लेकिन पिछले तीन सालों में ऐसा क्या हुआ कि हवा ही बदल गई। आखिर क्यूं ये सब नेता अब ‘तिलक’ लगाने को उतावले हुए जा रहे हैं। आखिर क्यूं ये सब अब ‘जालीदार टोपी’ में नजर नहीं आ रहे हैं। वजह साफ है कि 2014 में इनको जो झटका लगा है उसकी भरपाई करने के लिए अब नए-नए प्रयोग और प्रपंच कर रहे हैं। अंतर बस इतना है कि अब रंग ‘हरे’ से ‘भगवा’ हो गया है।

और शायद यही वजह कि अब सबने अपने-अपने रंग भी बदल लिए हैं कैसे…आइए जानते हैं कि किस पार्टी ने अपनी नैया पार करने के लिए किस भगवान को तारणहार बनाया है। हर पार्टी का अपना भगवान फिक्स हो गया है।

जैसा सर्वविदित है कि भारतीय जनता पार्टी के संस्थापक भगवान राम ही थे और हमेशा रहेंगे और साथ में हिन्दुत्व की छाप। लेकिन बाकी ने जो रंग बदला वो बहुत ही हैरान करने वाला है। कांग्रेस भगवान शिव को लेकर आगे बढ़ रही है, वहीं समाजवादी पार्टी भगवान विष्णु के साथ आगे बढ़ रही है। यह सिर्फ भगवा दल ही नहीं है, जो 2019 चुनाव के लिए राम के नाम पर अपनी तैयारी कर रहा है। बाकी पार्टियों की भी कोशिश है कि वह नरम हिंदुत्व में खुद को सबसे आगे दिखाने की कोशिश कर रही है और खुद पर लगा ‘मुस्लिमों की पार्टी’ का ठप्पा हटाने की कोशिश कर रही हैं। गैर-बीजेपी पार्टियों को लगता है कि उनकी ‘मुस्लिम पार्टी’ की इमेज की वजह से ही 2014 में उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा था।

छवि बदलने को उतावली कांग्रेस, ले रही है ‘शिव’ का सहारा

मुस्लिम समर्थक पार्टी होने की छवि का सबसे ज्यादा नुकसान कांग्रेस को हुआ है। इस बार कांग्रेस इस इमेज को तोड़ने की पूरी कोशिश कर रही है। ऐसे में पोस्टरों पर कांग्रेस नेताओं के नाम के साथ ठाकुर, पंडित और हिंदू ह्रदय सम्राट जैसी उपमाएं भी देखने को मिल जाएंगी। कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुजरात चुनाव, कर्नाटक चुनाव के दौरान कई मठ और मंदिरों का दौरा किया। हाल ही में वह कैलाश मानसरोवर की यात्रा भी करके लौटे हैं। पार्टी के कार्यकर्ता पोस्टरों पर उनके नाम के पहले ‘शिव भक्त’ की उपमा भी दे रहे हैं। हाल के अमेठी संसदीय क्षेत्र के दौरे के समय राहुल गांधी का स्वागत ‘शिव भक्त’ के तौर पर किया गया था। पार्टी के छुटभैये नेता भी अपने भाषणों के जरिए राहुल गांधी को महान हिंदू बताने की कोशिश कर रहे हैं, साथ ही वे यह भी जताते हैं कि राहुल गांधी परंपराओं का पालन बेहद अच्छे ढंग से करते हैं। इस हफ्ते राहुल गांधी उस समय थोड़ा असहज हो गए थे, जब इलाहाबाद के बमरौली एयरपोर्ट पर उनका स्वागत ‘बम बम भोले’ के उद्घोष के साथ किया गया। बता दें कि 2014 में जब पीएम मोदी वाराणसी में चुनाव अभियान चला रहे थे, उस समय उनका स्वागत भी इसी उद्घोष के साथ किया जाता था। पिछले दिनों जब राहुल गांधी चित्रकूट पहुंचे तो ‘जय श्री राम’ के नारों के साथ उनका स्वागत किया गया।

फिर से ‘गणेश’ का सहारा लेगी बीएसपी?

कुछ साल पहले तक बहुजन समाजपार्टी भी अपनी रैलियों में ‘हाथी नहीं गणेश है… ब्रह्मा, विष्णु, महेश है’ नारों का इस्तेमाल करती थी। इन्हीं नारों के जरिए बीएसपी ने दलित पार्टी की अपनी इमेज तोड़ने की कोशिश की थी और सर्वसमाज की बात कही थी। बीएसपी के एक सीनियर नेता ने न्यूज एजेंसी आईएएनएस से बातचीत में कहा, ‘जरूरत पड़ने पर इन नारों का इस्तेमाल पार्टी फिर से कर सकती है।’

सैफई में ‘विष्णु मंदिर’ से संदेश देगी समाजवादी पार्टी

चौंकाने वाली, लेकिन मौकापरस्ती की मिसाल तो ये है कि समाजवादी पार्टी भी इस बार ‘मुस्लिम पार्टी’ की इमेज तोड़ने की जी-तोड़ कोशिश कर रही है। एसपी ने अपने नेताओं को निर्देश दिया है कि वे ऐसा कोई भी बयान न दें जिससे पार्टी की छवि ‘हिंदू विरोधी’ जैसी दिखे। एसपी के नेता ने बताया, ‘हमें विरोधियों ने जानबूझकर मुस्लिमों की पार्टी की तरह पेश किया है। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आम सभा में ऐलान किया था कि वह अपने पैतृक गांव सैफई में भगवान विष्णु का एक मंदिर बनवाएंगे। वहीं एसपी के पूर्व नेता और राज्यसभा सांसद अमर सिंह ने कहा कि यह ह्रदय परिवर्तन नहीं बल्कि वोट के लिए ड्रामा है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s