‘गे’ पर आधारित ‘फायर’ से लेकर ‘अलीगढ़’ तक सब रहीं सुर्खियों में

इंडस्ट्री में लम्बे वक्त से फिल्मों में समलैंगिक संबंधों को बेबाकी से दिखाया जाता रहा है। जब भी इस तरह की फिल्में बनाई गईं या ऐसे किरदारों को हाईलाइट किया गया तब जमकर विवाद भी हुआ है। कई फिल्में तो इसी वजह से बैन भी कर दी गईं थीं। बॉलीवुड की वे फिल्में जिनका विषय समलैंगिक था और वे सुर्खियां बटोरने में भी कामयाब रहीं।

1996 और दो समलैंगिक फिल्में :इस साल बनी बॉमगे पहली समलैंगिक कहानी पर बनी फिल्म मानी गई।हालांकि यह आज तक रिलीज नहीं हो पाई। वहीं शबाना आजमी और नंदिता दास की फिल्म फायर ने भी जमकर सुर्खियां बटोरीं थीं। फिल्म का डायरेक्शन दीपा मेहता ने किया था।

– फिल्म की कहानी पहली बार महिला समलैंगिकों पर आधारित थी। यह भी सबसे ज्यादा विवादित फिल्म रही।

फिल्में जिन्हें सेंसर ने किया खारिज: बॉलीवुड भले ही समलैंगिकता पर आधारित फिल्में बनाता रहा हो, लेकिन सेंसर ने हर फिल्म को तवज्जोह नहीं दी। सेंसर की कैंची कई फिल्मों पर चली, जिनमें खास तौर पर डू नो वाई-न जानें क्यों, अनफ्रीडम शामिल है। 2014 में बनीं अनफ्रीडम को भारत में बैन कर दिया गया था।

– इनके अलावा कपूर एंड संस, डीयर डैड, माय सन इज गे, जस्ट अनदर लव स्टोरी, संचारम, लेडीज एंड जेंटल वीमन भी इसी जोनर की फिल्में रहीं।

2002 में आई मैंगो सुफले :इस मूवी ने भी जमकर तहलका मचाया था। साहित्य अकादमी पुरस्कार पाने वाले महेश दत्तानी ने ‘मैंगो सुफले’ 2002 में बनाई। फिल्म में रिंकी खन्ना अहम रोल में थीं।

2004 में आई गर्लफ्रैंड: इस फिल्म ने जमकर विवादों को जन्म दिया था। फिल्म में लेस्बियन रिश्ते को द‍िखाया गया था। फिल्म अपने जमाने की काफी बोल्ड फिल्मों की लिस्ट में शामिल थी। फिल्म में ईशा कोपिकर और अमृता अरोरा ने लीड रोल किया है।

2005 में आई माई ब्रदर निखिल :ओनिर के डायरेक्शन में बनी फिल्म में समलैंगिक संबंधों पर प्रकाश डाला गया था। इस फिल्म में संजय सूरी ने लीड रोल निभाया है, जिसमें जूही चावला ने उनकी बहन का रोल अदा किया है। फिल्म मॉय ब्रदर निखिल में भी समलैंगिक रिश्तों को और एड्स के विषय को उठाया गया था।

2008 में आई दाेस्ताना :अभिषेक बच्चन और जॉन अब्राहम के साथ प्रियंका चोपड़ा इस फिल्म में नजर आईं थीं। मेनस्ट्रीम सिनेमा की यह पहली फिल्म थी, जिसमें LGBT कम्युनिटी के रिश्तों को कॉमिक अंदाज में दिखाया गया था।

2010 में आई फिल्म आईएम : फिल्म ने जमकर वाहवाही बटोरी थी। यह फिल्म नेशनल अवॉर्ड जीतने वाली पहली गे फिल्म थी। इस फिल्म में चार अलग-अलग कहानियां दिखाई गईं थीं, जिसमें से एक कहानी समलैंगिकता पर थी।

2013 में बनी बॉम्‍बे टॉकीज : इस फिल्म में शाकिब सलीम और रणदीप हुड्डा का एक किसिंग सीन दिखाया गया था। बॉलीवुड के चार फेमस डायरेक्टर्स ने मिलकर 2013 में बॉम्बे टॉकीज नाम से एक फिल्म बनाई थी। रणदीप और शाकिब फिल्म में गे-कपल बने थे।

2014 में आई मार्ग्रीटा विद ए स्ट्रॉ :इस फिल्म में कल्कि कोचलिन ने सेरेब्रल पाल्सी से पीड़ित का किरदार निभाया था। उनके साथ सयानी गुप्ता और रेवती भी थीं। कल्कि इस फिल्म में बायोसेक्सुअल होती हैं जो एक लड़के के प्रति भी आकर्षित हो जाती है।

2015 की कहानी अलीगढ़ :मनोज वाजपेयी ने भी समलैंगिक फिल्म विषय पर बनी फिल्म में काम किया। फिल्म अलीगढ़ में मनोज एक ऐसे टीचर बने थे जो समलैंगिक होता है। फिल्म को हंसल मेहता ने डायरेक्ट किया था, जिसमें राज कुमार राव भी अहम किरदार में थे।aligarh-movie-review

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s